Google के सीईओ सुंदर पिचाई को पिछले साल लग भग ₹1285 करोड़ वेतन मिला

Google के सीईओ पिचई को पिछले साल 650,000 डॉलर का वेतन मिला, जो 2015 में अर्जित 652,500 डॉलर के मुकाबले थोड़ा कम था। लेकिन उन्हें 2016 में 197 मिलियन डॉलर का स्टॉक का भी दिया गया, जो की लगभग 99.8 मिलियन डॉलर के अपने 2015 स्टॉक आमदनी का दो गुना है।

Must Read

Microsoft partners with Accenture to host virtual startup challenge in India

Microsoft 100X100X100 program that focuses to bring 100 companies and 100 early and growth startups will collaborate with Accenture Ventures Open Innovation program to host Accenture Ventures Challenge

SAP eyes India’s MSMEs with ‘Global Bharat’ program

With the aim to focus on MSMEs market in India, SAP has launched 'Global Bharat' program with Nasscom, UNDP and Pratham

With AWS Outposts, Amazon Web Services enters into data center in India

Amazon Web Services said that AWS Outposts, a new product that brings its cloud infrastructure to on-premises data center is now available in India

भारत में जन्मे सीईओ सुंदर पिचाई ने 2016 में मुआवजे में लगभग 200 मिलियन डॉलर (लग भाग ₹1285 crore) प्राप्त किए, जो कि 2015 में मिली राशि से दोगुनी है, अमेरिकन न्यूज़ नेटवर्क सीएनएन ने एक रिपोर्ट में बताया।

रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकन कंपनी को पिछले साल 650,000 डॉलर का वेतन मिला, जो 2015 में अर्जित 652,500 डॉलर के मुकाबले थोड़ा कम था। लेकिन उन्हें 2016 में 197 मिलियन डॉलर का स्टॉक भी दिया गया, जो की लगभग 99.8 मिलियन डॉलर के अपने 2015 स्टॉक आमदनी का दो गुना है। कंपनी की मुआवजा समिति ने पिचई के सीईओ बनने और कई सफल प्रोड्कट लांच को इसका श्रेय दिया।

अगस्त 2015 में कंपनी के पुनर्गठन के दौरान पिचई को Google का सीईओ नामित किया गया था। लैरी पेज, Google के सह-संस्थापक और पिछले सीईओ ने Alphabet नयी कंपनी के तहत बढ़ते नए व्यवसायों पर अपना ध्यान केंद्रित किया।

पिछले दो सालों में पिचई नेतृत्व के तहत, Google ने अपने मुख्य विज्ञापन और YouTube व्यवसाय से बिक्री को बढ़ाया है, जबकि मशीन लर्निंग, हार्डवेयर और क्लाउड कंप्यूटिंग में भी निवेश किया है।

2016 में, Google ने नए स्मार्टफोन, एक वर्चुअल हेडसेट, राऊटर और एक आवाज़-नियंत्रित स्मार्ट स्पीकर लॉन्च किया। रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी के लिए इन प्रयासों का फायदा मिलना अब शुरू हो गया है।

Google की “अन्य बिज़नेस ” श्रेणी जिसमें हार्डवेयर और क्लाउड सेवाएं शामिल हैं, ने हाल ही की तिमाही में लगभग 3.1 अरब डॉलर का बिज़नेस किया, जो एक साल पहले की समान तिमाही से लगभग 50 फीसदी का लाभ था। इन कारणों से Alphabet कंपनी का स्टॉक आगे बढ़ा है पहली बार कंपनी की मार्किट वैल्यू 600 मिलियन डॉलर से ऊपर है।

पिचई 2004 में Google में शामिल हुए थे। प्रारंभ में, उन्होंने Google के क्लाइंट सॉफ़्टवेयर उत्पादों के एक सूट के लिए उत्पाद प्रबंधन और नवीनता प्रयासों का नेतृत्व किया। बाद में उन्होंने Google एंड्रॉइड की देखभाल करना शुरू कर दिया। अगस्त 2010 में, उन्हें Google का सीईओ नियुक्त किया गया जब सह-संस्थापक लैरी पेज ने Alphabet के तहत उभरते अवसरों पर अपना ध्यान केंद्रित करने का निर्णय लिया।

Subscribe to receive the day's headlines from Tech Observer straight in your inbox

Leave a Reply

*The moderation of comments is automated and not cleared manually by techobserver.in. Embedding of any link and use of abusive or unparliamentary language are prohibited.
- Advertisement -

Latest in TECH

- Advertisement -SAP Hana

Related Articles